Dr.Laxmikant Tripathi - The Master Of Palmistry

Dr. Laxmikant Tripathi is India's topmost practitioner, speaker and author on the subject of Palmistry, Ayurveda and Dream Analysis. Dr. Tripathi is widely sought by personalities in different walks of life - politicians, writers, actors, businessmen, industrialists, spiritual personalities, IT Professionals etc. He has numerous successful predictions and recognitions to his credit for these gifted abilities.

He specializes in enhancing the person's willpower through palmistry-based guidance to attain success in life.

Dr. Tripathi is frequently invited for talk shows on All India Radio. The national broadcaster of India DD National and DD News channels also invite him from time to time as guest on their talk shows on subjects of palmistry and Ayurveda.

Dr. Tripathi is also a best-selling author of a self-help book titled "Jeete Raho". He is a regular columnist for the Times of India, Navbharat Times and has contributed over 200 articles on palmistry and wellness in many newspapers. In his career spanning over 25 years, he has done a lot to promote India's ancient traditions, religions, cultures and useful social values in the right perspective and context of present era.

Dr. Tripathi's talent finds glorious mention in world famous author Amrita Pritam's literary master piece "Kaaya ke Daaman me".

Featured Video

Testimonials

indu jain

इन्दु जैन

चेयरमैन

दि टाईम्स आफ इंडिया ग्रुप

डॉ. लक्ष्मीकान्त त्रिपाठी ने अयुर्वेद, हस्तरेखा विज्ञान और आधयात्मिक विषयों का भी गहन अध्ययन किया है और अपने इस ज्ञान की मदद से वे अनगिनत लोगों की जीवन में सफलता की राह दिखा चुके हैं | इस तरह वे समाज की जिस रूप में सेवा कर रहे हैं वैसा बिरले लोग ही कर पाते हैं | मेरा अपना विश्वास है कि वह अपनी विद्द्या के बल पर लोगों को स्वास्थ्य, प्रसन्नता और सफलता के मार्ग पर ले जाने की अदभुत शक्ति रखते हैं | उनकी पुस्तक 'जीते रहो ' दरअसल मानव जीवन का एक ऐसा मानचित्र हैं जो किसी भी व्यक्ति के विकास के क्रम को निर्धारित करता हैं | यह पुस्तक एक व्यक्ति के जीवन को खुशहाल और सुखमय बनाने के साथ-साथ नए संस्कारित-सुविचारित समाज की रचना में अपना योगदान दे,ऐसी आशा है |

amreeta preetam

अमृता प्रीतम

(प्रख्यात लेखिका)

मेरे एक मेहरबान दोस्त उस दिन पास बैठे हुए थे | डॉ. त्रिपाठी ने जब उनका हाथ देखा तो कहने लगे-इस समय आपकी पत्नी की सेहत कुछ अच्छी नहीं रहती होगी...जवाब में मेरे मित्र ने कहा-मेरी पत्नी बहुत अच्छी है | पर अब कुछ सालों से उनकी सेहत ठीक नहीं...फिर डॉ.त्रिपाठी ने कहा-एक करीबी भविष्य में होने वाली घटना की बात भी आपको बता दूँ कि जल्द ही आप के घर में चोरी होगी | मैं भी चुप रह गई, और वह मेरे मित्र भी हैरान से डॉ. त्रिपाठी कि ओर देखने लगे | बात यह थी कि अभी कुछ ही दिन हुए उनके घर से उनकी अलमारी में जितना भी सोना था वह चोरी हो गया था | लगा-अगर यह बात बताई जा सकती है तो सचमुच बहुत कुछ बताया जा सकता है... कुदरत का पता नहीं कौन-कौन से रहस्य किन-किन रास्तों में बिखरे पड़े हुए हैं... और यह हस्तरेखा का इल्म इस तरह है, जैसे कुदरत ने सब कुछ लिखकर आपके हाथ में पकड़ा दिया हो |

uma bharti

उमा भारती

(केन्द्रीय मंत्री, जल संसाधन एवं गंगा पुनरुद्धवार मंत्रालय भारत सरकार)

डॉ. लक्ष्मीकान्त त्रिपाठी हस्तरेखा विज्ञान के प्रकांड पंडित है इनके द्वारा की गयी सभी भविष्यवाणियां मेरे जीवन में साकार हुई है |

#

ए.के.जैन

(डी.जी.पी., यू.पी.)

डॉ. लक्ष्मीकान्त त्रिपाठी मुझे हमेशा उचित परामर्श देते रहते है | लेकिन मेरे लिए जॉब एक्सटेंशन की भविष्यवाणी उन्होंने की थी जो बिल्कुल अप्रत्याशित एवं असंभावित थी और फेयरवेल के दिन ३१ मार्च को मुझे ३ महीने का एक्सटेंशन मिलना मेरे लिए सुखद आश्चर्य का विषय रहेगा | मै उनके ज्ञान के प्रति हमेशा कृतज्ञ रहूँगा |

#

प्रो.दिनेश सिंह

(उप कुलपति, दिल्ली विश्वविद्यालय)

डॉ. लक्ष्मीकान्त त्रिपाठी जी से मैं बहुत प्रभावित हूँ | पहली मुलाकात में ही एहसास हो गया था की वे ज्ञानी हैं, गंभीर हैं, स्थितप्रज्ञ हैं | मुझे इनसे बेहद लगाव हैं , क्योंकि जिन गुणों में मेरी आस्था है वे सब मै इनमें पाता हूँ |